सीएम ने पावर कार्पोरेशन को सख्त हिदायत दी कि इसमें किसी तरह की लापरवाही स्वीकार नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि ऊर्जा के क्षेत्र में व्यापक सुधार की जरूरत है। बकायेदारों से वसूली के लिए एकमुश्त समाधान योजना (ओटीएस) लागू करने के निर्देश भी दिए गए हैं।

भीषण गर्मी में बीते कुछ दिनों से कई क्षेत्रों में निर्धारित रोस्टर के अनुसार बिजली आपूर्ति होने को सरकार ने गंभीरता से लिया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि तमाम क्षेत्रों से शिड्यूल के अनुसार बिजली न मिलने की शिकायतें आ रही हैं। उन्होंने कहा कि ऊर्जा विभाग और पावर कार्पोरेशन सभी क्षेत्रों में तय रोस्टर के अनुसार बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करें और इसके लिए जो भी व्यवस्था जरूरी हो वह तत्काल की जाए। उन्होंने पावर कार्पोरेशन को सख्त हिदायत दी कि इसमें किसी तरह की लापरवाही स्वीकार नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि ऊर्जा के क्षेत्र में व्यापक सुधार की जरूरत है। बकायेदारों से वसूली के लिए एकमुश्त समाधान योजना (ओटीएस) लागू करने के निर्देश भी दिए गए हैं।


प्रदेश में गर्मी बढ़ने के साथ ही बिजली संकट गहराने लगा है। तमाम क्षेत्रों से बिजली कटौती की शिकायतें मिल रही हैं। इसे गंभीरता से लेते हुए मुख्यमंत्री ने सोमवार शाम ऊर्जा विभाग व पावर कार्पोरेशन के आला अधिकारियों की बैठक बुलाकर हालात की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि आपूर्ति में सुधार के लिए सभी जरूरी कदम उठाए जाएं और यह सुनिश्चित किया जाए कि गर्मी में लोगों को बिजली की समस्या का सामना न करना पड़े। मुख्यमंत्री ने कहा कि तेज गर्मी व लू का मौसम चल रहा है। ऐसे में गांवों या शहरों में अनावश्यक बिजली कटौती न की जाए। जरूरत हो तो अतरिक्त बिजली खरीदने की व्यवस्था की जाए। ट्रांसफार्मर जलने व तार गिरने जैसी दिक्कतों का बिना किसी विलंब के निस्तारण किया जाए।

सीएम ने बिजली के झूलते लटकते बिजली तारों को चरणबद्ध तरीके  से भूमिगत किए जाने पर जोर देते हुए कहा कि तारों का संजाल न केवल शहर की सुंदरता खराब करते हैं बल्कि आए दिन दुर्घटना का कारण भी बनते हैं। बिजली तारों के भूमिगत किए जाने के काम में और तेजी लाई जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि बिजली उत्पादन के लिए कोयले की उपलब्धता सतत बनाए रखी जाए। अभी प्रदेश में कोयले की कमी नहीं है किंतु मांग के अनुरूप कोयले की आपूर्ति सुगम बनी रहे इसके लिए भारत सरकार से सतत संवाद बनाए रखा जाए।

स्मार्ट मीटर लगाने के काम में तेजी लाएं
सीएम ने नगरों में स्मार्ट मीटर लगाने के  काम में तेजी लाने के निर्देश देते हुए कहा कि जिन घरों में अब भी बिजली कनेक्शन नहीं है उन्हें पात्रता के अनुसार सौभाग्य योजना अंतर्गत कनेक्शन दिया जाए। प्रदेश में हर गांव-हर घर बिजली पहुंचनी चाहिए।

समय से बिल जमा कराने की व्यवस्था करें
सीएम योगी ने कहा कि बिजली आपूर्ति होती रहे इसके लिए समय से बिल का भुगतान जरूरी है। बिजली का उपभोग करने वाले हर उपभोक्ता की यह जिम्मेदारी है कि वह समय से बिजली बिल का भुगतान करे। ऊर्जा विभाग व विद्युत निगमों को बिल के समयबद्ध संकलन के लिए ठोस प्रयास करना होगा। बकायेदारों से लगातार संपर्क और संवाद कर उन्हें बिल जमा करने के लिए प्रेरित किया जाए। गांवों में स्वयं सहायता समूहों व बीसी सखी के माध्यम से बिल संकलन जमा कराए जाएं। उन्होंने कहा कि प्रत्येक दशा में यह सुनिश्चित किया जाए कि एक भी उपभोक्ता को गलत बिजली बिल न मिले। सभी को समय से बिल मिल जाए। ओवर बिलिंग अथवा विलंब से बिल देने से उपभोक्ता परेशान होते हैं। इसके लिए ठोस कार्ययोजना बनाने की जरूरत है। उन्होंने बकायेदारों के लिए एकमुश्त समाधान (ओटीएस) की योजना लागू करने को भी कहा है।

बिजली चोरी करने वालों पर सख्ती करें
मुख्यमंत्री ने कहा कि बिजली चोरी करने वालों के खिलाफ पूरी सख्ती से नियमानुकूल कार्रवाई की जाए। लाइन हानियां कम करने और उसे न्यूनतम रखने के लिए हर जरूरी कदम उठाए जाएं।

Previous articleआशीष मिश्र पर आज आरोप तय करने को लेकर होगी सुनवाई
Next article12 वर्ष से अधिक उम्र के बच्चों के लिए ZycovD (जाइडस कैडिला वैक्सीन) को दी गई मंजूरी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here