लखनऊ। लोहिया संस्थान की महिला रेजिडेंट डॉक्टर के फेफड़े का प्रत्यारोपण हैदराबाद स्थित कृष्णा इंस्टीट्यूट आॅफ मेडिकल सांइसेस (किम्स) में करने की कार्रवाई शुरू हो गई है। परिवारजनों की मंजूरी मिलने के बाद लोहिया संस्थान प्रशासन ने किम्स को मरीज की सभी रिपोर्ट भेज दी है। शनिवार को किम्स की टीम लखनऊ आएगी। रविवार को एयर एम्बुलेंस से महिला डॉक्टर को शिफ्ट किया जाएगा।

संस्थान के स्त्री एवं प्रसूति रोग विभाग में तैनात रेजिडेंट डॉ. शारदा समुन कोरोना की चपेट में आ गई थीं। उसके दोनों फेफड़े संक्रमित हैं। 47 दिन से संस्थान के आईसीयू में इक्मो मशीन से सांसें दी जा रही हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने डॉ. शारदा के फेफड़ा प्रत्यारोपण पर आने वाले डेढ़ करोड़ रुपये खर्च की मदद की घोषणा की। शुक्रवार को धनराशि भेजने की कागजी कार्रवाई पूरी हो गई है। अधिकारियों ने शनिवार को इलाज पर आने वाले खर्च की रकम भेजने की उम्मीद जाहिर की है। संस्थान से अमौसी एयरपोर्ट तक ग्रीन कॉरिडोर बनाया जाएगा।

संस्थान के प्रवक्ता डॉ. श्रीकेश सिंह के मुताबिक सभी जिम्मेदार विभागों को सूचित कर दिया गया है। रविवार सुबह टीम एयर एम्बुलेंस (सुविधाओं से लैस चार्टर प्लेन) से मरीज को लेकर हैदराबाद के लिए रवाना होगी। जिला प्रशासन और यातायात विभाग से वार्ता की जा रही है। मरीजों को इक्मो के सहारे भेजा जाएगा। उन्होंने बताया कि मरीज को शिफ्ट करने की तैयारी शुरू कर दी है। मेडिसिन विभाग में रेजिडेंट डॉ. अजय अपनी पत्नी डॉ. शारदा की जान बचाने के लिए दिन रात जुटे हैं। डॉ. अजय के मुताबिक शुक्रवार को मरीज ने आम का जूस मांगा, जिसे पिलाया गया है। वह अभी इशारे में अपनी भावनाओं को व्यक्त कर रही हैं। उन्होंने बताया कि लोहिया के डॉक्टरों व सरकार ने काफी मदद की है।

Previous articleरामायण कॉन्क्लेव: 24 जुलाई से होगा शुरू
Next articleनागपुर से लौटे युवक ने डेल्टा प्लस वेरिएंट की पुष्टि नहीं हुई