Home Blog

सीक्रेट टिप्स : ऐसे करें कम कीमत में फ्लाइट टिकट बुक

0
Flight Tickets
Flight Tickets

नई दिल्ली। कोविड के बाद से फ्लाइट टिकट (Flight Tickets) बहुत महंगी हो गई हैं। ऐसे में हर कोई चाहता है कि कूपन कोड लगाकर फ्लाइट टिकट (Flight Tickets) की कीमत कुछ कम हो जाए। आप भी अगर फ्लाइट टिकट (Flight Tickets) में डिस्काउंंट पाना चाहते हैं, तो बुकिंग के टाइम पर कुछ हैक्स आपकी हेल्प कर सकते हैं।

प्राइवेट ब्राउजर

आपने अब तक देखा होगा कि अपने वेब ब्राउज़र में कुछ बार सर्च करने के बाद फ्लाइट टिकट (Flight Tickets) की कीमतें बदल जाती हैं। ध्यान दें कि यह आपके ब्राउजर  कुकीज के कारण है। ऐसा इसलिए है क्योंकि जब आप सर्च करते हैं, तो आपको फ्लाइट रूट को बार-बार देखा जाता है, जिससे टिकट में इजाफा सबसे ऊपर आता है।

कुकीज हिस्ट्री क्लियर करें

आपके ब्राउजर में कुकीज के आधार पर फ्लाइट टिकट की कीमतों में उतार-चढ़ाव होता है। कुकीज आपकी सर्च हिस्ट्री की हाल की जानकारी इकट्ठा करती हैं, जिसका इस्तेमाल सर्च इंजन या एयरलाइंस वेबसाइट अपने फायदे के हिसाब से करती हैं। अगली बार जब भी आप टिकट सर्च करें, हर बार कुकीज हिस्ट्री क्लियर कर दें।

Flight Tickets
Flight Tickets

नॉन-रिफंडेबल टिकट चुनें

यह सुनकर आपको अजीब लग सकता है लेकिन आमतौर पर नॉन-रिफंडेबल टिकट रिफंडेबल टिकट की तुलना में सस्ते होते हैं। जैसे, अगर आप अपनी जर्नी की तारीखों के बारे में पूरी तरह से सुनिश्चित हैं, तो नॉन-रिफंडेबल टिकट चुनें। साथ ही राउंड ट्रिप टिकट बुक करना भी पैसे बचाने का एक शानदार तरीका है।

जाने क्या है सफेद चाय के फायदे और रेसिपी

लॉयल्टी प्वाइंट

लॉयल्टी प्रोग्राम इस तरह से काम करता है कि हर बार जब कोई यात्री किसी विशेष एयरलाइन को चुनता है, तो आपके खाते में लॉयल्टी प्वाइंट जुड़ जाते हैं। फिर, उन प्वाइंट्स को जमा करके, वे उन्हें रियायती कीमतों पर उड़ान टिकट बुक करने के लिए यूज कर सकते हैं।

सबसे सस्ते दिन मार्क करें

आमतौर सोमवार और गुरुवार की सुबह के बीच किसी भी समय जाने वाली फ्लाइट्स में दूसरी फ्लाइट्स की तुलना में कम हवाई किराया होने की संभावना रहती है है। इस समय को ‘ऑफ-पीक ट्रैवलिंग’ के रूप में जाना जाता है, इसलिए अगर आप घूमने-फिरने जा रहे हैं या दिनों की कोई बंदिश नहीं है, तो आप इन सस्ते दिनों पर बुक कर सकते हैं।

फ्लाइट (Flight) सर्च इंजन का इस्तेमाल

फ्लाइट टिकट (Flight Tickets) बुक करने से पहले, कई सर्च इंजनों को चेक करना चाहिए, जिससे आप सभी साइट्स पर मौजूद टिकट की कीमतों में तुलना कर सकते हैं। साथ ही, इससे आपको प्राइस ड्रॉप नोटिफिकेशन भी मिलेगा। आप सर्च हिस्ट्री क्लियर करके हर सर्च इंजन पर देख सकते हैं।

ब्रेकफास्ट में कभी न करें ये गलतियां, उठाना पद सकता है नुकसान

जानिए हाइमन और वर्जिनिटी से जुड़ी कुछ मिथ्स

0
hymen, virginity
hymen, virginity

नई दिल्ली। हमारे आसपास के लोग अब भी सैनेटरी पैड्स को काले लिफाफे में पैक करके रखते हैं। जबकि हाइमन (Hymen) की कथा पीढ़ी दर पीढ़ी बांची जा रही है। बिना किसी वैज्ञानिक आधार के हाइमन  को किसी भी लड़की के कैरेक्टर का सर्टिफिकेट मान लिया जाता है। जबकि वास्तविकता इससे बहुत अलग है। हाइमन (Hymen) और वर्जिनिटी (virginity) के सोशल टैबू के लिए इस बार डॉ. क्यूटरस यानी तनाया नरेंद्र बता रहीं हैं हाइमन के बारे में फैले हुए कुछ मिथ्स (Myths and facts about hymen) की सच्चाई।

आपके शरीर का कोई पतला सा टिश्यू इतना मजबूत नहीं है, कि वह आपकी पर्सनल लाइफ पर सवाल उठा सके। लड़की वर्जिन (virgin) है या नहीं, इसक प्रमाण अकसर हाइमन या योनि झिल्ली को मान लिया जाता है। बरसों से यह मिथ फैला हुआ है कि लड़की जब पहली बार सेक्स करती है, तो उसका हाइमन टूट जाता है। इसकी वजह से उसकी योनि से खून बहने लगता है। इसका मतलब यह लगाया जाता है कि लड़की अपनी वर्जिनिटी (virginity) खो चुकी है। जबकि सच्चाई यह है कि ऐसा हर लड़की के साथ नहीं होता।

सबसे पहले जानिए क्या है हाइमन (Hymen)

योनि के मुंह पर यानी वल्वा के ऊपर एक पतली झिल्ली होती है। इसे ही हाइमन  कहा जाता है। यह सॉफ्ट टिश्यू से बनी होती है। यह वल्वा को ढके रखती है। इसकी बनावट योनि जैसी ही होती है। ऐसा माना जाता है कि योनि में पेनिट्रेट किए जाने पर हाइमन टूट जाता है। पहली बार सेक्स करने पर योनि से ब्लड निकल भी सकता है और नहीं भी।


सेक्स के कारण योनि से ब्लड फ्लो होने की कई दूसरी वजहें भी हो सकती हैं। सेक्स के लिए पूरी तरह तैयार न होने पर, मन में किसी प्रकार का स्ट्रेस होने पर तथा इंफेक्शन से भी योनि से ब्लड निकल सकता है। हाइमन संबंधी कई मिथ्स हैं, जिनके बारे में सही जानकारी होना हर लड़की के लिए जरूरी है।

हाइमन (Hymen)योनि के मुंह को पूरी तरह बंद रखता है

ये सबसे बड़ा मिथ है। यदि हाइमन योनि के मुंह को पूरी तरह बंद रखता, तो पीरियड ब्लड बाहर रिलीज नहीं हो पाता। कुछ लड़कियों में यह दिक्कत होती है। उनकी योनि हाइमन से पूरी तरह ढकी होती है। जिसके लिए उन्हें ऑपरेशन से योनि का मुंह खुलवाना पड़ता है।

कब्ज से है परेशान तो ये योगासन देगा तुरंत आराम

हाइमन (Hymen) सिर्फ पेनिट्रेशन के लिए बना है

ऐसा माना जाता है कि हाइमन सिर्फ पेनिस के लिए बना होता है, जो पेनिट्रेशन के बाद फट जाता है। हाइमन का पेनिट्रेशन से कोई मतलब नहीं होता है। कई बार सेक्स करने पर भी यह फैल जाता है, फटता नहीं।

पहली बार सेक्स पर ब्लीडिंग न होने का मतलब है हाइमन पहले खुल चुका है

यह बिल्कुल गलत है। कई बार टैम्पोन, सेक्स टॉय या उंगली डालने पर भी हाइमन फट जाता है। पहली बार सेक्स करने पर हाइमन में खिंचाव हो सकता है, जिससे दर्द या ब्लीडिंग हो सकती है। बाइक चलाने या फिर साइकिलिंग करने से भी हाइमन खुल जाता है। यह एक नाजुक झिल्ली है, जो एक बार टूटने के बाद दोबारा नहीं जुड़ती।

hymen, virginity
hymen, virginity

पहली बार सेक्स करने पर हाइमन (Hymen) टूटता है

हाइमन कभी टूटता नहीं है। हाइमन एक टिश्यू है। टिश्यू में कट लग सकता है। यह फैल सकता है या अंदर की ओर जा सकता है, लेकिन यह टूटता नहीं है। एस्ट्रोजन हार्मोन हाइमन की इलास्टिसिटी को बरकरार रखता है। यह सेक्स के बाद अंदर भी जा सकता है। उम्र, सेक्स और एक्सरसाइज के अलावा, प्रेगनेंसी के बाद हाइमन फैल जाता है।

वर्जिनिटी (virginity) की पहचान है हाइमन (Hymen)

ऊपर वाले 4 फैक्ट ने कम से कम इस पांचवें मिथ को तो तोड़ ही डाला होगा। असल में हाइमन की स्थिति से किसी भी लड़की या महिला की वर्जिनिटी (virginity) के बारे में नहीं बताया जा सकता है। हाइमन को देखकर गायनेकोलॉजिस्ट के लिए भी आपकी सेक्स एक्टिविटी के बारे में अंदाजा लगाना मुश्किल है। इसलिए हाइमन और वर्जिनिटी इन दोनों में जितना कम उलझें उतना बेहतर।

ये संकेत भी बताते है की आप प्रेग्नेंट हैं, जानें जरूर

गर्मियों में स्किन पर इंस्टेंट ग्लो पाने के लिए अपनाएं ये पांच देसी चीजें

0
skin , summer

नई दिल्ली। गर्मियों (summer) में स्किन का ख्याल बहुत ही चैलेंजिंग होता है। इस मौसम में स्किन सबसे ज्यादा डैमेज होती होती है। ऐसे में स्किन प्रॉब्लम्स (skin problems) को दूर करने के साथ स्किन को ग्लोइंग (skin glowing) बनाए रखना बहुत मुश्किल हो जाता है। ऐसे में आप केमिकल बेस्ड प्रॉडक्ट्स की बजाय देसी चीजों का इस्तेमाल कर सकते हैं। समर सीजन में ऐसी पांच चीजें हैं, जिन्हें स्किन पर यूज करना बेहद जरूरी हो जाता है।

शहद

शहद हमारी स्किन (skin) के लिए सबसे अच्छा मॉइस्चराइजर है। शहद को कई DIYs के लिए इस्तेमाल किया जाता है। मॉइस्चराइजर के रूप में स्किन (skin) पर शहद गर्मियों (summer) में जरूर लगाना चाहिए, लेकिन आपको इसे ज्यादा देर तक स्किन पर नहीं छोड़ना चाहिए।  आप इसे पपीता, केला या ताजे संतरे के रस के साथ मिलाकर फेसपैक बनाकर लगा सकते हैं। इसके अलावा आप इसे नाइट सीरम बनाकर नींबू के रस की बूंदों के साथ मिलाकर भी लगा सकते हैं।

कच्चा दूध

कच्चे दूध में सब कुछ होता है। अपने कॉटन पैड को एक टेबल स्पून कच्चे दूध में भिगोएं और इससे अपना चेहरा साफ करें। यह एक नेचुरल क्लींजर है और आपकी स्किन (skin) को दाग-धब्बों से मुक्त और चमकदार बनाएगा। इसे सुबह नहाने से पहले 10 मिनट तक चेहरे पर लगाकर धो दें, इससे आपकी स्किन ग्लोइंग बनेगी।

दही

दही में एंटी-एजिंग गुण होते हैं। दही स्किन (skin) को एक्सफोलिएट करता है और स्किन को मॉइस्चराइज भी करता है।  स्किन के दाग-धब्बों और पिम्पल्स के निशान को हटाने के लिए दही का इस्तेमाल कर सकते हैं। दही में लैक्टिक एसिड और कुछ ब्लीचिंग एजेंटों के कारण ही दही ऑयली स्किन के लिए किसी मैजिक से कम नहीं है।

शादी से पहले बॉडी फिट करने के लिए अपनाएं ये टिप्स

हल्दी

हल्दी ड्राय स्किन वालों के लिए बहुत फायदेमंद है। इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो स्किन ग्लोइंग (skin glowing) बनाने के लिए कारगर है। बेसन, दही, दूध के साथ हल्दी मिलाकर लगा सकते हैं। ड्राय स्किन (skin) के लिए हल्दी बहुत फायदेमंद है, जिससे स्किन ग्लोइंग बनती है।

एलोवेरा

एलोवेरा एक चमत्कारी पौधा है। एलोवेरा ऑयली और ड्राय स्किन दोनों के लिए फायदेमंद है। फ्रेश एलोवेरा प्लांट की गुडनेस, तो और भी ज्यादा होती है। इससे स्किन ग्लोइंग (skin glowing) बनती है। सनटैन से बचने के लिए आपको रोजाना नाइट क्रीम की तरह एलोवेरा जेल लगाना चाहिए।

वजन कम करने के लिए अपनाएं ये तरीका

सूर्य गोचर होने पर जाने किन राशियां के जगेंगे भाग्य

0
zodiac signs, Sun GOD
zodiac signs, Sun GOD

नई दिल्ली। ग्रहों की स्थिति से राशिफल (Zodiac Signs)  का आकंलन किया जाता है। हर दिन ग्रह-नक्षत्रों की स्थिति में बदलाव होता है। 15 मई को रविवार है। रविवार के दिन सूर्य राशि परिवर्तन है। इस दौरान सूर्य गोचर (Sun transit) करेंगे। रविवार के दिन ग्रहों की स्थिति के कारण कई राशि (Zodiac Signs) वालों को लाभ होगा व कई राशि के जातकों को सावधान रहने की सलाह दी जाती है।

जानें 15 मई की कौन-सी हैं लकी राशियां (Zodiac Signs)-

मेष- आत्मविश्वास में कमी रहेगी। माता के स्वास्थ्‍य का ध्यान रखें।बौद्धिक कार्यों से आय के साधन बन सकते हैं। वाणी में सौम्यता रहेगी। माता से धन प्राप्ति के योग बन रहे हैं। कार्यक्षेत्र में परिवर्तन की सम्भावना बन रही है। अनावश्‍यक खर्च बढ़ने के आसार हैं।

वृषभ- मानसिक शान्ति रहेगी। बातचीत में सन्तुलित रहें।नौकरी में कार्यक्षेत्र में कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है। पारिवारिक जीवन सुखमय रहेगा। आय में वृद्धि होगी। मित्रों का सहयोग मिलेगा। माता के सहयोग से धन प्राप्‍त‍ि के योग बन रहे हैं। स्‍वास्‍थ्‍य का ध्‍यान रखें।

मिथुन- मन अशान्त रहेगा। संयत रहें। धैर्यशीलता में कमी रहेगी। रहन-सहन अव्यवस्थित रहेगा। परिश्रम अधिक रहेगा। किसी अज्ञात भय से परेशान भी हो सकते हैं। माता-पिता को स्वास्थ्‍य विकार हो सकते हैं। भाइयों के सहयोग से कारोबार में बढ़ोतरी होगी। तनाव से बचें।

कर्क- आत्मविश्वास से लबरेज रहेंगे। मन अशान्त रहेगा।परिवार में व्यर्थ के वाद-विवाद से बचें। सुस्‍वादु खानपान में रुच‍ बढ़ेगी। कार्यक्षेत्र में कठिनाइयां आ सकती हैं। परिश्रम अधिक रहेगा। खर्च अधिक रहेंगे। भाई-बहनों का सहयोग म‍िलेगा। शुभ समाचार म‍लेंगे।

सिंह- मानसिक शान्ति के लिए प्रयास करें। व्यर्थ के झगड़े और विवादों से बचने के प्रयास करें। किसी सम्पत्ति के लिए निवेश कर सकते हैं। वाणी में कठोरता का प्रभाव रहेगा। नौकरी में तरक्की के अवसर मिल सकते हैं। आय में वृद्धि भी होगी। स्‍वास्‍थ्‍य का ध्‍यान रखें।

कन्या- क्षणे रुष्टा-क्षणे तुष्टा की स्थिति रहेगी। बातचीत में सन्तुलित रहें।कारोबार में कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है। अपनी भावनाओं को वश में रखें। जीवनसाथी से मनमुटाव हो सकता है। राजनीतिक महत्वाकांक्षा की पूर्ति होगी। धार्म‍िक यात्रा के योग बन रहे हैं।

तुला- आत्मविश्वास भरपूर रहेगा, परन्तु धैर्यशीलता में कमी हो सकती है। संयत रहें। पिता के स्वास्थ्‍य का ध्यान रखें। मन अशान्त रहेगा। स्वभाव में चिड़चिड़ापन रहेगा। आय में कमी एवं खर्चों में वृद्धि की स्थिति रहेगी। रुके हुए धन की प्राप्‍त‍ि के योग हैं। तनाव से बचें।

वृश्चिक- नौकरी में तरक्की के मार्ग प्रशस्त होंगे। वाहन सुख की प्राप्ति भी होगी।आत्मविश्वास से परिपूर्ण रहेंगे। आत्मसंयत रहें। श‍क्षा के क्षेत्र में सफलता के योग हैं। आय में वृद्धि होगी। स्थान परिवर्तन भी हो सकता है। माता का सहयोग म‍िलेगा। धन लाभ के योग हैं।

धनु- मन अशान्त रहेगा। बातचीत में सन्तुलित रहें।किसी पुराने मित्र से सम्पर्क बन सकते हैं। शैक्षिक कार्यों में व्यवधान आ सकते हैं। नौकरी में परिवर्तन के योग बन रहे हैं। परिवार से दूर जाना पड़ सकता है। कार्यक्षेत्र का विस्तार होगा। मान-सम्मान भी बढ़ेगा।

मकर- संयत रहें। आलस्य की अधिकता रहेगी।नौकरी में अफसरों से वाद-विवाद से बचें। तरक्की के अवसर मिल सकते हैं। मानसिक शान्ति रहेगी। शैक्षिक कार्यों में सफलता मिलेगी। पुराने मित्र से पुनःसम्पर्क हो सकता है। खर्च की अधिकता से परेशान रहेंगे।

कुंभ- आत्मविश्वास में कमी रहेगी। मन में नकारात्मकता का प्रभाव हो सकता है।मानसिक शान्ति के लिए प्रयास करें। बौद्धिक कार्यों से आय बढ़ सकती है। स्वभाव में चिड़चिड़ापन रहेगा। परिवार की समस्या परेशान कर सकती है। आय में वृद्धि होगी। तनाव से दूर रहें

मीन- क्षणे रुष्टा-क्षणे तुष्टा के मनोभाव रहेंगे। सन्तान सुख में वृद्धि हो सकती है।किसी मित्र का आगमन हो सकता है। दिनचर्या अव्यवस्थित रहेगी। आत्मसंयत रहें। क्रोध एवं आवेश के अतिरेक से बचें। परिवार का सहयोग मिलेगा। यात्रा पर जा सकते हैं। स्वास्थ्‍य का ध्‍यान रखें।

11 मई राशिफल: इन राशियों के लिए शुभ है आज का दिन

साल के पेहले चंद्रग्रहण पर इन कम से होगा नुकसान, जाने क्या करे और क्या नहीं

0
lunar eclipse
lunar eclipse

नई दिल्ली।  साल का पहला चंद्रग्रहण (Lunar Eclipse) 16 मई को लगेगा। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, ग्रहण को अशुभ माना जाता है। ग्रहण के दौरान शुभ व मांगलिक कार्यों की मनाही होती है। ग्रहण काल में मंदिरों के कपाटों को भी बंद कर दिया जाता है। हालांकि भारत में चंद्रग्रहण (Lunar Eclipse) दिखाई न पड़ने के कारण सूतक काल मान्य नहीं होगा। शास्त्रों में ग्रहण के दौरान कुछ विशेष नियम बताए गए हैं, जिनका पालन करने से शुभता की प्राप्ति होती है।

इन राशियों पर नहीं होता शनि का कोई प्रभाव

  1. इस दौरान किसी भी शुभ कार्य को नहीं करना चाहिए और न ही भगवान की मूर्तियों को स्पर्श करना चाहिए।
  2. ग्रहण के दौरान तुलसी के पौधे को नहीं छूना चाहिए और सूतक काल में तुलसी के पत्ते नहीं तोड़ने चाहिए।
  3. ग्रहण समाप्त होने के बाद ही भोजन करना चाहिए।
  4. गर्भवती महिलाओं को ग्रहण काल के दौरान काटने, छीलने या सिलने की मनाही होती है।
  5. गर्भवती महिलाओं को ग्रहण के दौरान घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए और न ही सोना चाहिए।
  6. ग्रहण के दौरान तेल लगाना, कपड़े धोना और ताला खोलना आदि काम नहीं करने चाहिए।
  7. ग्रहण के दिन जरूरतमंदों व गरीबों को दान देना चाहिए।
  8. शिवलिंग पर जल चढ़ाना चाहिए और शिवमंत्रों का जाप करना चाहिए। मान्यता है कि ऐसा करने से ग्रहण का कुप्रभाव नहीं पड़ता है।
  9. ग्रहण समाप्त होने के बाद मंदिर से लेकर अपने पूरे घर को गंगाजल से शुद्ध करना चाहिएष
  10. ग्रहण के दिन पितरों के नाम से भी दान करना चाहिए।

चंद्रग्रहण (Lunar Eclipse) का समय

भारतीय समय के अनुसार यह चंद्र ग्रहण 16 मई की सुबह 08 बजकर 59 मिनट से सुबह 10 बजकर 23 मिनट रहेगा।

11 मई राशिफल: इन राशियों के लिए शुभ है आज का दिन

ज्ञानवापी मस्जिद: चौथे तहखाने तक पहुंची टीम, कल भी होगा सर्वे

0
Gyanvapi Masjid
Gyanvapi Masjid

वाराणसी। ज्ञानवापी परिसर (Gyanvapi Masjid) में सर्वे का आज का काम पूरा हो चुका है। सर्वे सुबह 8 बजे से शुरू हुआ था। एडवोकेट कमिश्नर अजय मिश्र और वादी-प्रतिवादी पक्ष के 52 लोग परिसर के अंदर गए थे।

सर्वे टीम में सभी के मोबाइल बाहर जमा करा दिए गए थे। प्रशासन ने ज्ञानवापी परिसर के चारों तरफ 500 मीटर तक पब्लिक की एंट्री बंद करा दी थी। रविवार यानी कल भी सर्वे इसी तरह, इसी समय पर होगा।

ज्ञानवापी मस्जिद व काशी विश्वनाथ विवाद

एक किमी. के दायरे में 1500 से ज्यादा पुलिस-PAC के जवान तैनात रहे। सालों से बंद तहखानों में सर्वे करना था, इसलिए टीम बैटरी लाइट लेकर गई थी।

इसके अलावा, ताला तोड़ने वाले, सपेरे और सफाईकर्मियों को भी बुलाया गया था। सर्वे टीम परिसर से बाहर निकल चुकी है।

ज्ञानवापी मस्जिद केस: मंदिर पक्ष की वादी वापस लेंगी अपना केस

तीन पुलिसकर्मियों की गोली मारकर हत्या, सीएम ने की आश्रितों को एक करोड़ देने की घोषणा

0
Cm Shivraj Singh Chauhan
Cm Shivraj Singh Chauhan

भोपाल। मध्य प्रदेश के गुना (Guna) में शिकारियों ने 3 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी है। जिन पुलिसकर्मियों की हत्या हुई है उसमें SI राजकुमार, सिपाही नीरज भार्गव और हवलदार संतराम मीना शामिल हैं।

घटना के बाद प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Cm Shivraj Singh Chauhan) ने शनिवार सुबह तीनों पुलिस कर्मियों के परिवारों को एक-एक करोड़ रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है।

सीएम (Cm Shivraj Singh Chauhan)  ने आज सुबह एक आपात बैठक भी बुलाई थी। इस बैठक में गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा, मुख्य सचिव, डीजीपी, एडीजी, पीएस गृह सहित पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए थे।

सीएम (Cm Shivraj Singh Chauhan) ने की एक-एक करोड़ रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा

जानकारी के मुताबिक शुक्रवार की रात लगभग 12.30 बजे आरोन थाना पुलिस को सूचना मिली थी कि शहरोक गांव की पुलिया से आगे मौनवाड़ा के जंगल में शिकारियों ने काले हिरण और मोर का शिकार किया है।जिस पर थाने से SI राजकुमार जाटव, प्रधान आरक्षक नीरज भार्गव और आरक्षक संतराम मीना सहित सात लोग जंगल की ओर रवाना हुए।

शिकारियों ने SI समेत तीन पुलिसकर्मियों को बनाया अपना शिकार, गोलियों से भूनकर की हत्या

इस दौरान पुलिस (Madhya Pradesh Police) ने चार मोटरसाइकिल से आए दो-तीन शिकारियों को पकड़ लिया, लेकिन तभी पीछे से आए शिकारियों के अन्य साथियों ने फायरिंग शुरू कर दी। इसमें तीन पुलिसकर्मियों की गोली लगने से मौके पर ही मौत हो गई। वहीं तीन सिपाही घायल हुए हैं जिन्हे अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है।

मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने घटना पर दुख जताते हुए कहा है कि ‘कुछ बदमाशों की सूचना पुलिस को मिली थी। बदमाशों ने अपने आप को चारों तरफ से घिरा देखकर फायरिंग शुरू कर दी। हमारे एक SI, एक हेड कांस्टेबल और एक कांस्टेबल शहीद हो गए। सुबह से ही मैं संपर्क में हूं।’

गृह मंत्री ने कहा है कि ‘लगातार बदमाशों की घेराबंदी की जा रही है। हम जल्द उन्हें पकड़ लेंगे। इन बदमाशों पर सख़्त से सख़्त कार्रवाई होगी… 5 हिरणों के सिर मिले हैं, 2 हिरणों की बॉडी मिली है, मोर का भी शव मिला है। यहीं से शिकारियों की तरफ ध्यान जाता है।’

राजीव कुमार होंगे देश के नए चीफ इलेक्शन कमिश्नर, 15 मई को संभालेंगे कार्यभार

राष्ट्रपति कोविंद ने दिल्ली हाईकोर्ट में की नौ जजों की नियुक्ति की

0
President Ram Nath Kovind
President Ram Nath Kovind

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ram Nath Kovind) ने दिल्ली हाई कोर्ट के जज (HighCourt Judges) के रूप में नौ नियुक्तियां की हैं। शुक्रवार को जारी नोटिफिकेशन में इस बात की घोषणा की गई।

राष्ट्रपति ने दिल्ली हाई कोर्ट के जज के रूप में जिनकी नियुक्ति की है, उनमें तारा विताशा गंजू, मिनी पुष्कर्णा, विकास महाजन, तुषार राव गेडेला, मनमीत प्रीतम सिंह अरोड़ा, सचिन दत्ता, अमित महाजन, गौरांग कांत और सौरभ बनर्जी के नाम शामिल हैं।

यूपी पंचायती राज विभाग में निकली वैकेंसी, करें अप्लाई

अभी वर्तमान में दिल्ली हाईकोर्ट में 35 जज हैं। इन नौ जजों की नियुक्ति के बाद अब हाई कोर्ट में जजों की कुल संख्या 44 हो जाएगी। हाई कोर्ट में जजों की कुल स्वीकृत संख्या 60 है।

योगी सरकार ने ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट से 10 लाख करोड़ जुटाने का रखा लक्ष्य

न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न कोरोना पॉजिटिव

0
Jacinda Ardern
Jacinda Ardern

वेलिंगटन। न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न (Jacinda Ardern) ने शनिवार को स्वीकार किया है कि वह कोविड-19 से संक्रमित हैं। प्रधानमंत्री अर्डर्न (Jacinda Ardern) ने सुबह सोशल मीडिया पर पोस्ट किया- ‘पूरे प्रयासों के बावजूद दुर्भाग्य से मैं अपने परिवार के बाकी सदस्यों के साथ कोरोना संक्रमित हूं।’

वह पिछले रविवार से अपने परिवार के साथ घर पर ही आइसोलेट हैं। रविवार को उनके पति क्लार्क गेफोर्ड पॉजिटिव पाए गए थे। इसके बाद बुधवार को अर्डर्न की बेटी नेव संक्रमित हो गई थीं।

इस बीच न्यूजीलैंड में 7441 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं। इनमें से सबसे ज्यादा 2503 मरीज देश के सबसे बड़े शहर आकलैंड में हैं। इससे पहले स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा था कि न्यूजीलैंड में महामारी शुरू होने के बाद से अब तक 1,026,715 लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं।

दिल्ली में बढ़ी Corona की रफ्तार, डरावने साबित हुए नए आंकड़े

न्यूजीलैंड में सोमवार को सरकार को वार्षिक बजट पेश करना है। इसबार प्रधानमंत्री जैसिंडा (Jacinda Ardern) की जगह उप प्रधानमंत्री ग्रांट रॉबर्टसन बजट पर मीडिया को संबोधित करेंगे।

शिकारियों ने SI समेत तीन पुलिसकर्मियों को बनाया अपना शिकार, गोलियों से भूनकर की हत्या

प्रवक्ताओं के रिक्त 2002 पदों पर अगस्त तक हो जाएगी नियुक्ति

0
Vacant 2002 Posts
Vacant 2002 Posts

लखनऊ।  उच्च शिक्षा में व्यापक सुधार की मुहिम में जुटी योगी सरकार ने अशासकीय और राजकीय महाविद्यालय में बीते पांच साल में प्रवक्ताओं की रिकॉर्ड नियुक्ति की है । इस दौरान साढ़े तीन हजार से अधिक शिक्षकों का सलेक्शन हुआ है।

जबकि दो हजार से अधिक प्रवक्ताओं के रिक्त  के लिए लिखित परीक्षा हो चुकी है। अगस्त तक इन शिक्षकों को नियुक्त कर दिया जाएगा। वहीं एडेड कालेजों में प्राचार्यो की नियुक्ति  तो 14 साल  बाद हुई है । पांच सालों में 290 प्राचार्य चयनित हुए ।

प्रवक्ताओं के  रिक्त 2002 पदों(Vacant 2002 Posts) पर अगस्त तक हो जाएगी नियुक्ति

जीरो टॉलरेंस की नीति पर चल रही योगी सरकार ने बीते पांच सालों में पारदर्शी चयन प्रक्रिया के तहत सर्वाधिक डिग्री शिक्षकों की नियुक्ति की है । 2017 से 2022 तक राजकीय महाविद्यालयों में 766 प्रवक्ता चयनित हुए हैं। जबकि 2002 रिक्त पदों (Vacant 2002 Posts) के लिए लिखित परीक्षा संपन्न की जा चुकी है।

सीएम योगी का शिक्षा की गुणवत्ता पर जोर, खुद परख रहे शिक्षा की गुणवत्ता 

अगस्त तक इनका सलेक्शन हो जाएगा। वहीं सपा सरकार में (2012-2017) 557 और मायावती सरकार मे 487 प्रवक्ता चयनित हुए थे। जबकि 2003 से 2007 तक 147 चयनित हुए थे ।

2003 के बाद पहली बार एडेड  डिग्री कालेज में 290 प्राचार्यो का चयन

अशासकीय (एडेड) महाविद्यालयों में योगी सरकार ने रिकॉर्ड शिक्षकों की नियुक्ति की है, जो सपा बसपा सरकार के कार्यकाल में हुई नियुक्ति की तीन गुने से अधिक है। बीते पांच साल में 2802 प्रवक्ताओं का सलेक्शन हुआ जबकि अखिलेश यादव ( 2012 से 2017) में यह संख्या शून्य रही अर्थात एक भी शिक्षकों की नियुक्ति नही हुई।

जबकि बसपा सरकार (2007 से 2012) में 185 और 2003 से 2007 तक 797 प्रवक्ताओं का सलेक्शन हुआ था। प्राचार्यो के चयन में योगी सरकार ने कीर्तिमान रचकर 290 नियुक्ति की । जबकि 2003 से 2017 तक एक भी प्राचार्य का चयन नही हुआ था ।

यूपी के मदरसों में सुबह क्लास शुरू होने से पहले राष्ट्रगान ज़रूरी किया गया

0FansLike
3,486FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
Google search engine

Recent Articles

Trending Now