नई दिल्ली। वैदिक पंचांग के अनुसार, हर ग्रह एक निश्चित अवधि में एक राशि (zodiac signs) से दूसरी राशि में प्रवेश करता है। ग्रह गोचर क प्रभाव का सभी 12 राशियों (zodiac signs) पर पड़ता है। सूर्यदेव (Sun God) 15 मई को वृषभ राशि में प्रवेश करने जा रहे हैं। वृषभ राशि के स्वामी ग्रह शुक्रदेव हैं।

वैदिक ज्योतिष में शुक्र को पिता, मान-सम्मान व आत्मा का कारक माना जाता है। इसलिए इस राशि परिवर्तन का असर सभी राशियों (zodiac signs) पर पड़ेगा। लेकिन 3 राशियों के लिए सूर्य गोचर बेहद लाभकारी साबित होगा।

 

मेष- सूर्य गोचर आपके लिए लाभकारी साबित हो सकता है। सूर्यदेव आपकी राशि (zodiac signs)  से दूसरे भाव में गोचर करेंगे। जिसे धन व वाणी का स्थान कहा जाता है। इसलिए इस समय आपको आकस्मिक धन लाभ हो सकता है। कहीं से अटका धन प्राप्त हो सकता है। आपकी आर्थिक स्थिति में जबरदस्त सुधार होगा। नई जॉब का ऑफर आ सकता है। आपके लिए यह समय अनुकूल रहने वाला है। मेष राशि के स्वामी ग्रह मंगलदेव हैं। मंगल व सूर्य के बीच मित्रता का भाव होने से आपके लिए यह समय शुभ रहेगा।

कुंभ राशि में शनि गोचर करते हुए देंगे शुभफल, बन रहें है पंच महापुरुष योग

कर्क- कर्क राशि वालों के लिए सूर्य राशि परिवर्तन शुभ समाचार ला सकता है। आपकी राशि से सूर्य 11वें भाव में प्रवेश करेंगे। जिसे इनकम व लाभ का स्थान कहा जाता है। इस दौरान आपकी आय में वृद्धि के प्रबल योग बनेंगे। प्रॉपर्टी में निवेश आपके लिए लाभकारी रहेगा। नए व्यावसायिक संबंध बनेंगे। कर्क राशि के स्वामी ग्रह चंद्रमा हैं। चंद्रमा व सूर्य के बीच मित्रता का भाव है। इसलिए आपके लिए यह गोचर खुशियों की सौगात ला सकता है।

सिंह- सिंह राशि के स्वामी स्वयं सूर्य भगवान हैं। इसलिए आपके लिए यह गोचर लाभकारी साबित होगा। सूर्यदेव आपकी राशि से दशम भाव में गोचर करेंगे। जिसे कार्यक्षेत्र व जॉब का भाव कहा जाता है। इसलिए इस समय आपको नौकरी में तरक्की मिल सकती है। नए अवसर आपके हाथ लगेंगे। कार्यशैली में सुधार होगा। व्यापारियों को मुनाफा हो सकता है।

इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं। इन्हें अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

जानवरों में भी होता है डैंड्रफ, जानें इसके उपाय

Previous articleपरफेक्ट बॉडी शेप के लिए अपनाएं ये 3 एक्‍सरसाइज
Next articleइन राशियों पर नहीं होता शनि का कोई प्रभाव