प्रधानमंत्री के आंशु उन लोगों का दुख कम नहीं कर सकते जिन्होंने सरकारी लापरवाही की वजह से अपनों की जान गवाई। कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की, इस दौरान उन्होंने कांग्रेस पार्टी की ओर से पेश किया गया व्हाइट पेपर जारी किया। राहुल गांधी ने कोरोना की दूसरी लहर का जिक्र करते हुए कहा- 90 प्रतिशत लोगों ने सरकार की लापरवाही की वजह से जान गंवाई।

उन्होंने कहा- कोरोना महामारी है और सरकार इसे राजनीतिक लड़ाई बना रही, सरकार से साथ पूरा देश हैं और सरकार आँख खोले। व्हाइट पेपर को लेकर राहुल ने कहा- इसमें तीसरी लहर की तैयारी, दूसरी लहर में रही कमी, आर्थिक रूप से मदद दी जाए, ताकि जब थर्ड वेव आए तो आम लोगों को कम से कम परेशानी हो।

इससे पहले राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर देश में कोरोना महामारी, बढ़ती महंगाई और बेकाबू होती बेरोजगारी को लेकर भी तंज कसा था। राहुल ने ट्वीट में लिखा था, महामारी, महंगाई, बेरोज़गारी, जो सब देखकर भी बैठा है मौन जन-जन देश का जानता है- जिम्मेदार कौन। इतनी ही नहीं 11 जून को भी राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा था कि सच से, सवालों से, कार्टून से- वह सब से डरता है।

इससे पहले कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश, गुजरात और मध्य प्रदेश में कोविड से मौत के आंकड़े छिपाए जाने का आरोप लगाया था। पार्टी की तरफ से शनिवार को कहा गया कि इन राज्यों के मुख्यमंत्रियों योगी आदित्यनाथ, विजय रुपाणी और शिवराज सिंह चौहान को नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा देना चाहिए। मुख्य विपक्षी पार्टी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से यह आग्रह भी किया कि देश में कोविड से हुई मौतों का सही आंकड़ा पता करने और आंकड़े छिपाने वालों की जवाबदेही तय करने के लिए न्यायिक जांच कराई जाए।

Previous articleअमेरिका के सैनिकों को पाकिस्तान में बेस क्यों नहीं बनाने दे रही पाकिस्तान सरकार?
Next articleभारत बायोटेक ने ‘कोवैक्सिन’ के तीसरे फेज के क्लिनिकल ट्रायल डेटा DCGI को सौंपा