देश में कोरोना संकट के बीच पीएम नरेंद्र मोदी ने सोमवार को पूर्वोत्तर राज्यों के आठ मुख्यमंत्रियों के साथ वर्चुअल बैठक की।पीएम मोदी ने कहा- कोरोना वायरस बहुरुपिया है, हमें हर वैरिएंट पर नजर रखनी होगी, म्यूटेशन के बाद ये कितना परेशान करेगा एक्सपर्ट स्टडी कर रहे हैं। उन्होंने हर स्थानों पर लगातार बढ़ती भीड़ को लेकर चिंता जताई, कहा- हिल स्टेशंस, मार्केट एवं भारी भीड़ वाली जगह पर बिना मास्क नहीं जाएं।

तीसरी लहर को लेकर उन्होंने कहा- हमें इसबार पहले से अधिक सावधानी बरतने की जरूरत है, क्योंकि दूसरी लहर के दौरान कोरोना ने बड़ा खतरा पैदा किया। पीएम के साथ इस बैठक में नागालैंड, असम, त्रिपुरा, सिक्किम, मणिपुर, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय एवं मिजोरम के मुख्यमंंत्री शामिल हुए।

देश में कोरोना संक्रमण होते ही लोगों के घूमने निकल पड़ने पर पीएम मोदी ने कहा, ये सही है कि कोरोना की वजह से टूरिज्म, व्यापार-कारोबार बहुत प्रभावित हुआ है। लेकिन आज मैं बहुत जोर देकर कहूंगा कि हिल स्टेशंस में, मार्केट्स में बिना मास्क पहने, भारी भीड़ उमड़ना ठीक नहीं है। सतर्कता बरतना बेहद जरूरी है।

LIC के निजीकरण पर बोले राऊत, शराब की तरह मोदी सरकार को निजीकरण की लत लग गई

पूर्वोत्तर के कुछ जिलों में मामले बढ़े हैं, ऐसे में सतर्क रहने की जरूरत है। प्रधानमंत्री ने कहा कि कंटेनमेंट नीति (Containment Policy) पर जोर देकर ही सही एक्शन लिया जा सकता है। कोरोना के बदलते रूप पर मोदी ने कहा कि हम सभी को मिलकर कोरोना के हर वैरिएंट पर सख्त नजर रखनी होगी। ये बहरुपिया है और बार-बार अपना रंग बदलता है।

Previous articleनीतीश बोले- महिलाएं शिक्षित होंगी तो जनसंख्या कम हो जाएगी, डिप्टी सीएम बोली- पुरुष हो जागरुक
Next articleमहामारी ने बढ़ाई चिंता, देश की पहली संक्रमित महिला को फिर से हुआ कोरोना