नई दिल्ली। एसिडिटी (Acidity) की समस्या काफी आम है।  पेट में तेज दर्द, जलन, सूजन, हिचकी आना, पेट फूलना और एसिड रिफ्लक्स इसके सामान्य लक्षण हैं। अगर आप बार-बार इन समस्याओं से परेशान हो रहे हैं, तो आप कुछ घरेलू तरीकों से इससे छुटकारा पा सकते हैं।

एसिडिटी (Acidity) और जलन (Heartburn)से छुटकारा पाने के घरेलू तरीके

1) केला- केला पेट और पेट की हेल्थ के लिए बेहद फायदेमंद होता है क्योंकि इसमें खूब फाइबर होता है जो पाचन को बढ़ाता है। ये पोटेशियम से भरपूर होता है और पेट में बलगम के प्रोडक्शन  को बढ़ाता है जो एक्सट्रा एसिड को रोकता है। इसके लिए आप पके हुए केले को खाएं।

2) छाछ- ठंडी छाछ एसिडिटी (Acidity) के लिए बेहतरीन होती है। पेट की जलन (Heartburn) से राहत पाने के लिए एक गिलास ठंडी छाछ पिएं। छाछ में लैक्टिक एसिड होता है जो पेट में एसिडिटी को बेअसर करता है। लैक्टिक एसिड (Acidity) पेट की परत को लेप करके,जलन और एसिड रिफ्लक्स के लक्षणों को कम करके पेट को आराम देता है। इसके अलावा, छाछ एक नेचुरल पाया जाने वाला प्रोबायोटिक है। प्रोबायोटिक्स में मौजूद अच्छे बैक्टीरिया गैस के निर्माण और सूजन को रोकते हैं जो अक्सर एसिड रिफ्लक्स का कारण बनता है।

3) ठंडा दूध- ठंडे दूध में कैल्शियम की हाई मात्रा होती है जो इसे हड्डियों के हेल्थ के लिए एक सुपरफूड बनाती है। कैल्शियम पीएच संतुलन को बनाए रखने में मदद करता है और पाचन में मदद करता है।

4) बादाम- एसिडिटी (Acidity) को दूर करने के लिए अच्छा  कच्चे बादाम फायदेमंद हो सकते हैं। बादाम नेचुरल तेलों से भरपूर होते हैं जो पेट में एसिड को शांत और बेअसर करते हैं। पेट को स्वस्थ रखने के लिए आप कच्चे बादाम के अलावा बादाम का दूध भी ले सकते हैं।

हेल्थ बेनिफिट्स: अनुलोम विलोम प्राणायाम से होते है ये फायदे

5) पेपरमिंट टी- पेपरमिंट टी पाचन और पेट दर्द में मदद कर सकती है। हालांकि, अगर आपको एसिड रिफ्लक्स या जीईआरडी है, तो पुदीने की चाय पीने से बचें क्योंकि इससे समस्या और बढ़ सकती है।

6) सौंफ- सौंफ में एनेथोल नामक एक कंपाउंड होता है जो पेट के लिए हेल्दी एजेंट के रूप में काम करता है। इसी के साथ ये ऐंठन और पेट फूलने से बचाता है। यह विटामिन, मिनरल्स और डायट्री फाइबर से भी भरपूर होता है जो अच्छे पाचन की प्रक्रिया में सहायता करता है।अगर आप एसिडिटी और गैस की समस्या के घरेलू उपचार की तलाश में हैं, तो थोड़ी सौंफ चबाएं। आप इन्हें पानी में भिगोकर, इसका पानी पी सकते हैं और तुरंत राहत के लिए सौंफ को चबाकर खा सकते हैं।

बढ़ रहा है यूरिक एसिड लेवल, तो खाना शुरू करें ये फल

Previous articleआजम खान की पत्नी और बेटे ने कोर्ट में हुए हाजिर
Next articleकीर्ति नगर की तीन फैक्ट्रियों में लगी भीषण आग