कभी कई दिनों तक हजार पार की संख्या पर कायम रहा कोरोना संक्रमण (Corona) अब इकाई की संख्या में सिमट रहा है. रविवार को गोरखपुर में सिर्फ 8 नए कोरोना संक्रमित मिले. इसके साथ ही जिले में अब कुल सक्रिय संक्रमितों की संख्या रविवार तक 372 रह गई थी. ये आंकड़े इस बात की तस्दीक भी हैं कि विश्व स्वास्थ्य संगठन और नीति आयोग से सराहे गए गई योगी सरकार के ट्रिपल टी फॉर्मूले ने कोविड की दूसरी लहर को न सिर्फ थाम लिया है बल्कि तीसरी लहर को समय रहते बेअसर करने की तैयारी भी जारी है.

गोरखपुर में मध्य अप्रैल से लेकर मई माह के पहले सप्ताह तक कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमण की रफ्तार काफी तेज थी. इस पर काबू पाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर ट्रिपल टी यानी ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट के अभियान को गांव-गांव में तेज किया गया. गांव स्तर पर ही लक्षण वालों की पहचान, उनकी जांच, मेडिसिन के साथ होम आइसोलेशन व जरूरत पर अस्पताल में भर्ती करने के इंतज़ाम से संक्रमण का फैलाव रोकने में कामयाबी मिली.

ट्रिपल टी अभियान की जमीनी हकीकत जानने सीएम योगी खुद भी फील्ड में उतर पड़े थे. ट्रिपल टी तेज होने का असर यह हुआ जिले में मई के दूसरे सप्ताह से कोरोना संक्रमण के दैनिक आंकड़े हजार से सैकड़े में और 28 मई से दहाई में आ गए. दैनिक संक्रमण के हिसाब से जिले में पीक 25 अप्रैल को था जब एक ही दिन में 1440 लोगों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. 13 जून को यह ग्राफ 8 पर आ गया है. यानी संक्रमण के पीक के एक प्रतिशत से भी कम पर. इसी तरह 30 अप्रैल को कुल सक्रिय संक्रमितों की संख्या 10308 के पीक पर थी जो 13 जून को महज 372 रह गई है.

Previous articleमहारानी एलिजाबेथ ने अनोखे अंदाज में तलवार से काटा केक
Next articleपारस हॉस्पिटल को प्रशासन से मिली क्लीन चिट