नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी समेत पूरे उत्तर भारत में इन दिनों भीषण गर्मी पड़ रही है। कई राज्यों में अधिकतम तापमान 45 डिग्री के पार पहुंच गया है। हालांकि, इस बीच मौसम विभाग (IMD) ने मॉनसून (Monsoon) को लेकर खुशखबरी दी है।

मौसम विभाग के दफ्तर ने बताया है कि इस बार साउथवेस्ट मॉनसून देश में जल्दी दस्तक देने जा रहा है। 15 मई को अंडमान और निकोबार में मॉनसून की पहली बारिश के आसार हैं। मौसम विभाग ने बयान जारी कर कहा, ”साउथवेस्ट मॉनसून के 15 मई, 2022 के आसपास दक्षिण अंडमान सागर और उससे सटे दक्षिणपूर्व बंगाल की खाड़ी में बढ़ने की संभावना है।”

तेज हवा के साथ बारिश का अनुमान

मौसम विभाग ने आगे बताया कि मौसम कार्यालय ने अगले पांच दिनों में अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में बारिश और अगले पांच दिनों में केरल और लक्षद्वीप में गरज के तेज हवाओं और बारिश होने का अनुमान जताया है। सामान्य रूप से केरल में मॉनसून की शुरुआत 1 जून से होती है।

भीषण गर्मी से मिलेगी राहत, इस जिलों में होगी झमाझम बरसात

वेदर ऑफिस ने कहा कि अगले पांच दिनों के दौरान अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में व्यापक रूप से व्यापक रूप से हल्की / मध्यम वर्षा होने की संभावना है। द्वीपसमूह में 14 मई से 16 मई तक अलग-अलग क्षेत्र में बारिश का अनुमान है।

हवा की गति में भी आएगा बदलाव

न्यूज एजेंसी पीटीआई ने मौसम विभाग के हवाले से बताया, 15 मई और 16 मई को दक्षिण अंडमान सागर में हवा की गति 40-50 किमी प्रति घंटे से 60 किमी प्रति घंटे तक पहुंचने की संभावना है।

इस बीच, उत्तर भारत के अधिकांश हिस्सों में भीषण गर्मी बनी हुई है। वहीं, राजस्थान के बाड़मेर में अधिकतम तापमान 48 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। राजस्थान, हरियाणा, गुजरात, मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र के कम से कम 29 शहरों में तापमान 44 डिग्री सेल्सियस से अधिक दर्ज किया गया है।

तपती गर्मी से रामलला परेशान, गर्भगृह का एसी हुआ खराब

Previous articleबर्फ फैक्ट्री का कंप्रेसर फटने से मजदूर की मौत, परिवार समेत संचालन फरार
Next articleकच्चे प्याज से होते हैं गजब के फायदे, जानें कैसे करें इस्तेमाल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here