कोलकाता: विधानसभा चुनाव के बाद बीजेपी (BJP) छोड़कर टीएमसी (TMC) में शामिल हुए विधायक और पूर्व रेल मंत्री मुकुल रॉय (Mukul Roy) की पत्नी कृष्णा रॉय (Krishna Roy) का मंगलवार को चेन्नई स्थित एक निजी अस्पताल निधन हो गया। वह लंबे समय से बीमारी से पीड़ित थीं। कोलकाता में कोरोना से भी संक्रमित हुई थीं। उसके बाद अन्य बीमारियों के इलाज के लिए उन्हें चेन्नई स्थित अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

बता दें कि हाल में मुकुल रॉय बीजेपी से टीएमसी में शामिल हुए हैं। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी उनकी बीमार पत्नी से मिलने अस्पताल गए थे। उसके बाद से ही उनके टीएमसी में वापसी के कयास लगाए जा रहे थे। दूसरी ओर, सीएम ममता बनर्जी ने कृष्णा रॉय के निधन पर शोक जताते हुए कहा कि विधायक मुकुल रॉय की पत्नी कृष्णा रॉय के निधन से गहरा दुख हुआ है। उन्होंने आज सुबह चेन्नई में अंतिम सांस ली हैं।

कृष्णा देवी विभिन्न सार्वजनिक कार्यों से जुड़ी थीं। मैं उन्हें करीब से जानती थी। वह सदैव लोगों का भला चाहती थी। मैं कृष्णा रॉय का पति मुकुल रॉय और बेटा शुभ्रांशु रॉय, परिवार और प्रशंसकों के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना व्यक्त करती हूं। शाम को ममता बनर्जी मुकुल रॉय के आवास पर पहुंचीं और संवेदना जताईं।

बता दें कि मुकुल की पत्नी कृष्णा रॉय को हाल ही में फेफड़े के प्रत्यारोपण के लिए चेन्नई ले जाया गया था। उन्हें पहले से ही कई तरह की शारीरिक समस्याएं थीं। इसी बीच कोरोना संक्रमित भी हुई थीं। इससे उनकी हालत और भी बिगड़ गई थी और उनके फेफड़े सबसे ज्यादा क्षतिग्रस्त हुआ था। कृष्णा रॉय को कुछ दिन पहले कोलकाता में बायपास के पास एक निजी अस्पताल में कोरोना के साथ भर्ती कराया गया था। वहां उनका कुछ समय से इलाज चल रहा था, लेकिन फेफड़ों की हालत इतनी खराब हो गई कि डॉक्टरों को इसे बदलने का कोई रास्ता नहीं सूझ रहा था।

कोलकाता से एयर एंबुलेंस से ले जाया गया था चेन्नई उसके बाद उन्हें चेन्नई ले जाने का फैसला किया गया था। 17 जून को कृष्णा रॉय को दिल्ली से कोलकाता के लिए एयर एंबुलेंस में चेन्नई ले जाया गया था। एयर एम्बुलेंस में चिकित्सा सहायता प्रदान करने के लिए सभी सुविधाएं थी । वहां दो पायलट डॉक्टर और एक अटेंडेंट समेत कुल सात लोग सवार थे। उनका चेन्नई में इलाज चल रहा था. वहीं उनकी मौत हो गई।

Previous articleभारतीय उच्चायोग ने अफगानिस्तान में भारतीय मिशनों को बंद करने की खबरों को बताया ‘गलत
Next articleतीसरी लहर से पहले आत्मनिर्भर होंगे सरकारी अस्पताल, 31 ऑक्सिजन प्लांट!